आये दिन आईपीएल में कोरोना के केस बढ़ते जा रहे है, कभी किसी स्टाफ मेंबर को कोरोना हो रहा है तो कभी किसी खिलाड़ी को। खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए उन्हें बायो बबल में रहने को कहा जा रहा है, और वे बाहरी किसी भी मेंबर से नहीं मिल सकते। हाल ही में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि बायो- बबल में रहना मुश्किल होता है। विराट ने खिलाड़ियों की मानसिक स्थिति को लेकर चिंता भी जताई थी। और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी माना कि खिलाड़ियों के लिए लंबे समय तक बायो बबल में रहना मुश्किल चुनौती है। लेकिन, उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय काफी सहनशील होते हैं और हर चैलेंज के लिए तैयार रहते हैं। इसलिए उन्हें नहीं लगता है कि आईपीएल में भारतीय खिलाड़ियों को खास परेशानी होगी।


गांगुली ने कहा की कोरोना के बीच जब से इंटरनेशनल क्रिकेट शुरु हुए हैं, तब से खिलाड़ियों को बायो-बबल में रहना पड़ रहा है। वे होटल से स्टेडियम तक ही जा सकते हैं। वे बाहरी लोगों के संपर्क में नहीं आ सकते हैं। गांगुली ने कहा, ‘मैं इंग्लैंड, वेस्टइंडीज,ऑस्ट्रेलिया सहित तमाम देशों के खिलाड़ियों के साथ खेला हूं। मुझे लगता है कि हम भारतीय विदेशी खिलाड़ियों की तुलना में मानसिक रूप से ज्यादा मजबूत होने के साथ ही सहनशील भी होते हैं।’


गांगुली ने ऑस्ट्रेलिया टीम का उदाहरण देते हुए कहा कि घरेलू सीरीज में भारत से हारने के बाद ऑस्ट्रेलिया को मार्च-अप्रैल में साउथ अफ्रीका के टूर पर जाना था। लेकिन टीम के खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ ने कोरोना की वजह से जाने से इनकार कर दिया।
गांगुली ने कहा की कोरोना का डर बना हुआ है, लेकिन हमें सकारात्मक और मानसिक रूप से मजबूत रहने की जरुरत है जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं, हमे परिस्तिथियों का सामना करना होगा।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)