शिविर में 255 कार्मिकों ने लगवाई वैक्सीन
आवासन मण्डल पहला संस्थान जिसने कार्मिकों के लिये वैक्सीनेशन शिविर का किया आयोजन
आयुक्त ने कहा कोरोना महामारी से बचाव के लिए मंडल ने की हमेशा अग्रणी पहल
सेनेटाइशन स्टेशन, नो-मास्क, नो एंट्री गेट की स्थापना के साथ किए थे 1 लाख निःशुल्क मास्क वितरण
जयपुर, 7 अप्रेल। राजस्थान आवासन मण्डल के आवासन आयुक्त श्री पवन अरोडा ने बताया कि कोरोना महामारी की तेजी से बढती हुई लहर को देखते हुए मण्डल के कार्मिकों के वैक्सीनेशन के लिये बुधवार को यूथ हॉस्टल में शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें लगभग 255 कार्मिकों ने वैक्सीन लगवाई।


श्री अरोड़ा ने बताया कि अभी कोराना महामारी का द्वितीय फेज बेहद खतरनाक है। इस बीमारी से बचाव के लिए हमारे देश में विकसित कोरोना वैक्सीन बेहद सुरक्षित है। मंडल के कार्मिकों की सेहत हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है। अभी कार्मिकों को वैक्सीन को लेकर चिंता बनीं हुई थी, इसलिए मंडल ने सभी कार्मिकों को एक साथ वैक्सीन लगवाने का निर्णय लिया गया। वैक्सीनेशन स्थल यूथ हॉस्टल को विशेष रूप से सजाया गया। स्वागत द्वार बनाए गए। सेल्फी बूथ भी बनाया गया। वैक्सीनेशन के बाद अल्पाहार की भी व्यवस्था की गई थी। राजस्थान आवासन मंडल पहला संस्थान है, जिसने 45 वर्ष से अधिक के सभी कार्मिकों को वैक्सीन लगवाई है।


श्री अरोड़ा ने कहा कि कोरोना से खिलाफ जंग में माननीय मुख्यमंत्री महोदय के नेतृत्व में बेहद संजीदगी और गंभीरता के साथ प्रयास किए गए हैं। मुख्यमंत्री महोदय की मंशा के अनुरूप आवासन मंडल ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए प्रारंभ से ही अग्रणी पहल की है। पहले मंडल के सभी कार्यालयों में सेनेटाइजेशन स्टेशन स्थापित किए गए। इसके बाद 1 लाख निःशुल्क फेस मास्क का वितरण किया गया। नो मास्क-नो एंट्री के स्वागत द्वार बनाए गए। अब वैक्सीन आने पर मंडल के सभी कार्मिकों के वैक्सीन लगवाए गए।


उन्होंने कर्मचारियों को टीकाकरण के बाद भी कोविड-19 से बचाव के दिशा निर्देशों का पालन करने का सुझाव दिया, जिसमें लगातार हाथ धोना, सेनेटाइजेशन, मास्क या फेस कवर पहनना और सामाजिक दूरी शामिल हैं । इस अवसर पर सचिव श्रीमती संचिता विश्नोई, वित्तीय सलाकार श्रीमती संजय शर्मा, मुख्य सम्पदा प्रबंधक श्रीमती कश्मि कौर, अतिरिक्त मुख्य अभियंता श्री संजय पूनिया, नत्थूराम सहित बड़ी संख्या में कर्मचारी उपस्थित थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)